7th Pay Commission: त्योहारों से पहले रेलवे की सौगात, कर्मचारियों का बोनस डबल, 2 साल का एरियर भी मिलेगा

| September 1, 2019 | Reply

7th Pay Commission: त्योहारों से पहले रेलवे की सौगात, कर्मचारियों का बोनस डबल, 2 साल का एरियर भी मिलेगा, इंसेंटिव बोनस में हालिया वृद्धि एक जुलाई, 2019 से प्रभाव में आएगी। ऐसे में माना जा रहा है कि इन कर्मचारियों को एरियर की अच्छी-खासी रकम मिलेगी।

त्याहारों के दस्तक देने से पहले भारतीय रेलवे ने अपने कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है। रेल मंत्रालय ने रेलवे वर्कशॉप और उत्पादन इकाई के हजारों कर्मियों का इंसेंटिव बोनस दोगुना कर दिया है। इन कर्मचारियों को इसके साथ ही दो साल का एरियर भी दिया जाएगा। दरअसल, पहले तक रेलवे के इन कर्मियों को यह बोनस सातवें वेतन आयोग के हिसाब से नहीं दिया जा रहा था, जबकि अब इसे वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार बढ़ाया गया है।








मंत्रालय के आदेश का हवाला देते हुए कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि इंसेंटिव बोनस में सातवें वेतन आयोग के तहत 2.25 फैक्टर लागू होगा। यह बोनस कर्मचारियों को घंटों के हिसाब से दिया जाता है। आगे यह भी बताया गया कि सभी रेलवे वर्कशॉप्स और उत्पादन इकाइयों में कर्मचारियों की उपस्थिति दर्ज करने की व्यवस्था और बेहतर करने के लिए वहां बायोमीट्रिक मशीनें लगेंगी।




इंसेंटिव बोनस में हालिया वृद्धि एक जुलाई, 2019 से प्रभाव में आएगी। ऐसे में माना जा रहा है कि इन कर्मचारियों को एरियर की अच्छी-खासी रकम मिलेगी। बता दें कि सातवें वेतन आयोग में अकुशल कर्मचारी का इंसेंटिव बोनस 6760 रुपए से बढ़ाकर 12168 रुपए करने की सिफारिश की गई है। जुलाई, 2019 से अगर पांच फीसदी भत्ता दिए जाने के फैसले को भी मंजूरी दे दी गई, तो सरकार की ओर से फेस्टिव सीजन में कर्मचारियों की खुशी दोगुणी हो जाएगी।




इसी बीच, ऑल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन (एआईआरएफ) के महासचिव शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि रेलवे यूनियन इंसेंटिव बोनस रिवाइज करने के लिए रेल मंत्रालय पर लंबे समय से दबाव बनाए थी। मई में मंत्रालय ने उनका प्रस्‍ताव माना था, जिसमें हमने यह इंसेंटिव बोनस भत्‍ते में बदलने की मांग उठाई थी।

उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चाइल्ड केयर लीव को उन एकल पिताओं के लिए मंजूर कर दिया है, जो कि भारतीय रक्षा सेवाओं में तैनात हैं। बता दें कि पहले यह लाभ एकल पिताओं को नहीं मिलता था, क्योंकि यह भारतीय रक्षा सेवाओं में तैनात एकल मां को दिया जाता था।

Category: News Paper

About the Author ()

Leave a Reply